सुर्ख़ियां


23 दिनों से धरने पर बैठी हैं महिलाएं

 

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ पिछले 23 दिनों से महिलाएं धरने पर बैठी हैं. यहां भी जेएनयू हमले का मामला ही छाया हुआ है. धरनास्थल पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महिलाओं ने कहा कि जेएनयू में हुई हिंसा बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. पहले सरकार कहती थी कि युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए काम करेंगे और अब उन पर ही अत्याचार किया जा रहा है.