नागरिकता कानून तानाशाही का नया अभ्यास- शिवानन्द तिवारी

| January 6, 2020

 

वरिष्ठ समाजवादी नेता और जेपी आंदोलनकारी शिवानंद तिवारी का कहना है कि नागरिकता से जुड़े नये कानून देश में तानाशाही का नया अभ्यास है. आरएसएस अपना एजेंडा देश पर थोप रही है. शिवानंद तिवारी का कहना है कि अंग्रेजों के लाये कानून ‘रॉलेट एक्ट’ की तरह है ये कानून, जिसे आज़ादी की लड़ाई की तरह इसे लागू करने से रोकना होगा. उनका साफ तौर पर ये मानना है कि देश के गरीब-पिछड़े-दलित-आदिवासियों को वोट के अधिकार से वंचित करने का ये खेल है. शिवानंद तिवारी से खास बातचीत की हमारे संवाददाता नवेंदु सिन्हा ने.


वीडियो

Opinion

Humans of Democracy