मजदूरों के साथ नहीं हुआ इंसाफ

| January 3, 2020

 

जम्मू के राजौरी से मुक्त कराए गए बंधुआ मजदूरों की माने तो उनको 20-20 हजार रुपये में बेच दिया गया था. उनका लगातार शोषण हो रहा था. रात में एक-एक बजे तक काम करवाया जाता था. मुक्त कराए गए बंधुआ मजदूर अब बंधुआ मुक्ति प्रमाण पत्र की मांग कर रहे है. बंधुआ मज़दूरों से बातचीत कर उनका हाल जाना हमारे संवाददाता ने.


वीडियो