शहर से उजड़े, गांव में भी राशन नहीं

| May 25, 2020

 

स्टेंडर्ड वर्कर्स एक्शन नेटवर्क की रिपोर्ट की मानें तो 13 अप्रैल तक शहरों में फंसे कामगारों में से 96 फीसदी को सरकारी राशन नहीं मिला था और 70 फीसदी लोगों तक पका हुआ भोजन नहीं पहुंच सका. सरकारी निर्देश के बावजूद कामगारों को मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया. यही वजह थी कि बड़ी संख्या में लोग शहर छोड़कर गांव चले गए.


वीडियो