भारत में फांसी की सज़ा

NewsPlatform | January 8, 2020

 

सात साल के इंतज़ार के बाद 22 जनवरी को निर्भया मामले के दोषियों को फांसी दी जाएगी. 1947 से भारत में 720 अपराधियों को फांसी की सजा सुनाई गई है. शुरुआती फांसी की सज़ाओं में गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे और नारायण आप्टे भी शामिल थे जिन्हें अंबाला सेंट्रल जेल में 15 नवम्बर 1949 को फांसी दी गयी थी.


वीडियो