बिहार में चमकी बुखार से हर साल जाती है बच्चों की जान

| January 2, 2020

 

अस्पतालों में बच्चों की मौतों की बड़ी घटनाएं बिहार में हर साल घटती है. यही कारण है कि बच्चों की बीमारी और शिशु मृत्युदर के मामले में बिहार, देश में ऊपरी पायदान पर है. ये आंकड़ा राष्ट्रीय औसत के हिसाब से लगभग 13.2 प्रतिशत है. यहां चमकी बुखार से हर साल बड़ी संख्या में बच्चों की जान जाती है. बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच के शिशु वार्ड में अभी भीषण ठंड में भी चमकी बुखार से पीड़ित कई बच्चे भर्ती हैं जबकि सरकार का दावा रहता है कि अत्याधिक गर्मी के चलते चमकी बुखार होता है. यहां निमोनिया से भी पीड़ित कई बच्चे भर्ती हैं. जायजा लिया हमारे संवाददाता नवेन्दु सिन्हा ने.


वीडियो