इमारते-शरिया प्रमुख से खास बातचीत

| January 10, 2020

 

इमारते-शरिया के प्रमुख सिबली कासमी का मानना है कि CAA-NRC-NPR में एक खास मजहब को निशाना बना कर मौजूदा सरकार ने देश तोड़ने और संविधान खत्म करने की कोशिश कर रही है. इमारते-शरिया, बिहार-झारखंड-उड़ीसा की सबसे बड़ी धार्मिक-जमाती संस्था है. सिबली कासमी ने आह्वान किया है कि इमारत-ए-शरिया से जुड़े लोग देश-विदेश में जहां भी हों, इस कानून की वापसी तक शांतिपूर्ण तरीके से विरोध करें. सिबली कासमी से खास बातचीत की हमारे संवाददाता नवेंदु सिन्हा ने.


वीडियो