अमित शाह के बयान पर विवाद

 

एक देश में एक भाषा. गृहमंत्री अमित शाह ने हिंदी दिवस पर बधाई के साथ इसे महात्मा गाँधी और सरदार पटेल का सपना बताया जिसे पूरा किया जाना है. उनके इस बयान से नया विवाद खड़ा कर दिया है. क्या आज़ादी के आंदोलन के नायकों का वाकई ये सपना था? क्या संविधान इसकी इजाज़त देता है? और क्या गृहमंत्री ने ऐसा बयान देते हुए भारत की विविधिता का ध्यान नहीं रखा ? इन सवालों पर स्वराज एक्सप्रेस ने बात की हिंदी के विद्वानों और पत्रकारों से.


वीडियो

© COPYRIGHT News Platform 2020. ALL RIGHTS RESERVED.