मीडिया पर फिर बरसे ट्रंप, कहा- सूत्रों का नाम देना अनिर्वाय हो

Team NewsPlatform | April 21, 2020

trump slammed new york times journalist for undisclosed source based journalism

 

मीडिया संगठनों और पत्रकारों पर अक्सर बरसने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर मीडिया पर निशाना साधा है. ट्रंप ने कहा कि किसी भी खबर में मीडिया समूह को खबर के सोर्स या सूत्र का नाम जरूर देना चाहिए.

ट्रंप ने अमेरिकन मीडिया पर गैर-ईमानदार रिपोर्टिंग करने का आरोप भी लगाया. शनिवार को व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रंप अचानक द न्यू यॉर्क टाइम्स की व्हाइट हाउस संवाददाता मैगी हाबेरमन की निजी आलोचना करने लगे. उन्होंने संवाददाता पर अस्पष्ट या गलत सूत्रों के आधार पर खबरें करने का आरोप लगाया.

ट्रंप ने कहा, ‘…सूत्र जैसे कि कोई भी नहीं और ये खुद ही खबरें गढ़ते हैं.’

ट्रंप के मुताबिक ‘सूत्र ने कहा’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल सबसे अधिक सीएए, न्यू यॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट में होता है.

ट्रंप ने कहा, ‘सूत्रों का नाम देना अनिर्वाय होना चाहिए… अगर सूत्र है तो नाम दीजिए… मुझे नहीं लगता कि सूत्र होते हैं.’

मैगी हाबेरमन ने अपने सहयोगी जोनाथन मार्टिन के साथ लिखे एक लेख में कहा था कि रिपब्लिकन्स का मानना है कि कोरोना वायरस को लेकर चीन को आरोपित करने से आने वाले मुश्किल होते चुनाव में वो अपनी स्थिति बेहतर कर सकते हैं.

कुछ समय पहले हाबेरमन ने सूत्रों के आधार पर एक खबर में लिखा कि व्हाइट हाउस के नए चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडॉज सदस्यों के साथ हुई बैठक में दो मौकों पर रोए हैं.

ट्रंप ने इसे अस्पष्ट सूत्रों के आधार पर की गई रिपोर्टिंग करार दिया.

ट्रंप ने कहा, ‘आपको पता है, उनकी रूस पर की गई रिपोर्टिंग के लिए उन्हें पुलित्जर मिला है, पर वो गलत थी. इसी तरह सभी गलत हैं. इन सभी को अपना प्राइज लौटाना चाहिए. वो न्यू यॉर्क टाइम्स की तीसरे दर्जे की रिपोर्टर हैं.’

बीते हफ्ते ट्रंप ने एक वीडियो क्लिप में उनका नाम शामिल किया था. ये क्लिप ट्रंप के कोरोना वायरस से निपटने पर मीडिया में चली आलोचक खबरों का स्पष्टीकरण था.


Big News

Opinion

hathras girl
क्या दलित इंसान नहीं हैं? क्या उनकी अंतिम इच्छा नहीं हो सकती है?
रेयाज़ अहमद: क्या आप हमें बता सकते हैं कि 14 अक्टूबर के लिए क्या योजना बनाई गई है - कितने…
भीम कन्या
भीम कन्या
यह एक भव्य कार्यक्रम है। पुरे भारत में क़रीब एक हज़ार गाँव में 14 अक्टूबर को प्रेरणा सभा का आयोजन…
The recent Dharavi contagion of Covid-19 and how the city administration was effectively able to use its capacity within the given constraints to act.
Know Thy City
The small successes of urban policy and governance action illuminate the foundations of many big and routine failures. The relative…

Humans of Democracy