हॉकी विश्व कप : इंग्लैंड और फ्रांस क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

Team NewsPlatform | December 10, 2018

in world cup hockey england and france enters into quarterfinal

 

इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को 2-0 और फ्रांस ने चीन को 1-0 से हराकर पुरुष हॉकी वर्ल्ड कप हॉकी के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है. इंग्लैंड के लिए विल कलनान ने मैच के 25वें मिनट में गोल दागा जबकि ल्यूक टेलर ने 44वें मिनट में पेनल्टी कार्नर को गोल में बदला.

बुधवार को पहले क्वार्टर फाइनल में अब इंग्लैंड का सामना ओलंपिक चैंपियन अर्जेन्टीना से होगा.

दुनिया की सातवें नंबर की टीम इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड की तुलना में काफी बेहतर प्रदर्शन किया. इंग्लैंड को पांचवें मिनट में पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन टीम इसका फायदा उठाने में नाकाम रही.

इंग्लैंड ने दूसरे क्वार्टर के 25वें मिनट में विल के गोल से बढ़त बनाई जिन्होंने बाएं छोर से कप्तान फिल रोपर के पास को गोल में पहुंचाया. न्यूजीलैंड ने 28वें मिनट में अच्छा मूव बनाया लेकिन निक रोस के शॉट को इंग्लैंड के गोलकीपर जार्ज पिनर ने नाकाम कर दिया.

इसके कुछ सेकेंड बाद इंग्लैंड को पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन टीम इस बार भी गोल करने में नाकाम रही. तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में इंग्लैंड को लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन इस बार भी टीम को निराशा हाथ लगी.

न्यूजीलैंड ने इस बीच कुछ मूव बनाए लेकिन टीम गोल करने में नाकाम रही. इंग्लैंड को तीसरे क्वार्टर के अंतिम लम्हों में अपना पांचवां पेनल्टी कार्नर मिला जिसे टेलर ने गोल में बदल दिया. मैच के अंतिम मिनट में न्यूजीलैंड को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन पिनर ने इसे नाकाम कर दिया.

इसके साथ ही इंग्लैंड की टीम सभी वर्ल्ड कप में शीर्ष आठ में जगह बनाने के अपने रिकार्ड में एक बार फिर कामयाब रही.

वहीं फ्रांस ने चीन को करीबी मुकाबले में 1-0 से हराकर क्वार्टर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. मैच का एकमात्र गोल 36वें मिनट में फ्रांस के टिमोथी क्लेमेंट ने किया.

फ्रांस की टीम बुधवार को क्वार्टर फाइनल में दो बार की चैंपियन और दुनिया की नंबर एक टीम आस्ट्रेलिया से भिड़ेगी.

20वें रैंकिंग वाली फ्रांस की टीम ने दुनिया की 17वें नंबर की टीम चीन के खिलाफ अच्छी शुरुआत की. टीम को दूसरे ही मिनट में दो पेनल्टी कार्नर मिले लेकिन ये बेकार गए.

चार्ल्स मेसन के पास अपने साथी को पास देकर 19वें मिनट में फ्रांस को बढ़त दिलाने का मौका था लेकिन वह खुद गोलकीपर काइयू वैंग के शरीर पर शॉट खेल बैठे. चीन को 21वें मिनट में बराबरी हासिल करने का मौका मिला लेकिन ई वेनहुई गोल करने में नाकाम रहे.

दोनों टीमें अंतिम दो क्वार्टर में भी कई बार गोल करने में करीब पहुंची लेकिन सफलता नहीं मिली.


खेल-कूद

Opinion

Humans of Democracy