सुर्ख़ियां


Akhilesh Yadav

 

आख़िर क़ानून से भागनेवाले… इंसाफ़ से कितनी दूर भागते.

ख़ुशी है कि इससे किसी को न्याय मिला है लेकिन असली ख़ुशी तब होगी जब ऐसी कारगर निवारक सुरक्षा व्यवस्था व प्रतिरक्षक सामाजिक वातावरण बने कि ऐसे जघन्य अपराध कभी भी किसी बहन-बेटी के साथ घटित ही न हों.