सीएए पर आज विपक्षी दलों की बैठक, बीएसपी और टीएमसी ने किया किनारा

| January 13, 2020

 

विपक्षी दलों की आज होनी वाली बैठक से बीएसपी, टीएमसी और आप ने किनारा कर लिया है. तमाम विपक्षी पार्टियां बीते कुछ समय से लगातार केंद्र को आर्थिक मोर्चे पर विफलता, एनआरसी और सीएए के मुद्दों पर घेर रही है लेकिन आम चुनावों के बाद ये पहली बार है जब सभी पार्टियां एक बैठक में साथ हिस्सा ले रही हैं. ऐसे में तीन अहम विपक्षी पार्टियों के पीछे हटने से कई सवाल पैदा हो गए हैं.

हालांकि आप के सांसद संजय सिंह ने विपक्षी पार्टियों की आज होने वाली बैठक की जानकारी होने से इनकार किया. उन्होंने कहा, ‘…ऐसे में किसी भी बैठक में हिस्सा लेने का कोई अर्थ नहीं.’

आज बैठक में कांग्रेस समेत लेफ्ट पार्टियां, डीएमके, आरजेडी, जेएमएम, एनसीपी, एसपी और अन्य क्षेत्रीय पार्टियां मौजूद रहेंगी. ये आज सीएए, एनआरसी और आर्थिक मोर्चों पर बीजेपी को चुनौती देने के लिए रणनीति बनाएंगी.

खबर है कि एनपीआर पर भी बैठक में चर्चा होगी.

बैठक का आयोजन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया है. 2019 आम चुनाव के बाद विपक्षी दलों की बैठक ये पहले सबसे बड़ी बैठक होने जा रही है.

बैठक के जरिए विपक्षी दल ये दिखाने की कोशिश करेंगे कि भले ही वो संसद में बीजेपी से कम संख्या में हों लेकिन वो सरकार से सवाल पूछने और उसकी नीतियों को चुनौति देने के लिए एक मजबूत विपक्ष के तौर पर खड़े हैं.

बैठक में सीएए को वापस लेने के लिए एक संयुक्त बयान भी जारी किया जा सकता है.

कांग्रेस शासित राज्यों ने एनआरसी और सीएए के खिलाफ बयान जरूर दिए हों लेकिन अब तक इन राज्यों ने सीएए और एनआरसी का पालन करने से इनकार नहीं किया है. केरल और पश्चिम बंगाल एनआरसी और सीएए लागू करने से पहले ही इनकार कर चुके हैं.

बैठक आज दोपहर दो बजे होनी है.

संसद से पास होने और राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद सीएए 10 जनवरी से पूरे देश में लागू हो गया है.


राजनीति