भारत प्रत्यर्पण के आदेश पर आत्महत्या कर लूंगा: नीरव मोदी

will commit suicide on extradition judgement says nirav modi

 

पीएनबी घोटाले के आरोपी भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में कहा कि अगर उसके भारत प्रत्यर्पण का आदेश दिया गया तो वह आत्महत्या कर लेगा. बताया यह भी जा रहा है कि नीरव ने जेल में तीन बार हमला होने की भी बात कही.

वहीं नीरव के इस बयान पर भारत सरकार के लिए पैरवी कर रहे वकील जेम्स लेविस ने कहा कि इस बयान से नीरव के फरार होने की मंशा का साफ पता चलता है.

इससे पहले ब्रिटेन की अदालत ने ब्रिटेन की अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की नई जमानत याचिका खारिज कर दी.

नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से जुड़े दो अरब डॉलर के धोखाधड़ी और धनशोधन मामले में भारत को प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ मुकदमा लड़ रहा है.

नीरव (48) को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत के समक्ष पेश किया गया. नीरव ने मुचलके के तौर पर 40 लाख पाउंड भुगतान करने की पेशकश की लेकिन न्यायाधीश एम्मा अर्बथनॉट ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी.

बताया जाता है कि उसने अपनी नई याचिका में बेचैनी और अवसाद की समस्या का दावा किया.

नीरव मोदी 19 मार्च को गिरफ्तारी के बाद दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में है. भारत सरकार के अनुरोध पर स्कॉटलैंड यार्ड (लंदन पुलिस) ने प्रत्यर्पण वारंट की तामील करते हुए उसे गिरफ्तार किया था.


© COPYRIGHT News Platform 2020. ALL RIGHTS RESERVED.