सुर्ख़ियां


मोदी-योगी के रहते राम मंदिर नहीं बनना लोगों के लिए धक्का: उमा भारती

Uma Bharti Criticized yogi and modi on ram mandir issue

  PTI

केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि यदि प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ के रहते अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का रास्ता न निकले तो देश के लोगों को धक्का लगेगा.

केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने कहा, ‘‘यह सही है कि मोदीजी प्रधानमंत्री हों और योगीजी मुख्यमंत्री हों और फिर भी राम मंदिर निर्माण का रास्ता न निकले तो लोग इस बात से आश्चर्यचकित होंगे कि हम राम मंदिर के लिए रास्ता क्यों नहीं बना पाए.’’

उन्होंने आगे कहा, “इट विल बी शॉक टू द पीपुल (यह लोगों के लिए धक्का होगा).’’ उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास 1984 में केवल दो लोकसभा सीटें थी जो राम मंदिर आंदोलन के बाद तेजी से बढ़ीं.

उन्होंने कहा, ‘‘राम मंदिर की बहुत बड़ी भूमिका रही है. इसलिए मोदी और योगी के रहते हुए जिस तरह लोगों की आशा है, राम मंदिर के निर्माण का रास्ता निकलना चाहिए.’’

उमा ने बताया, ‘‘मैं आज भी यही कहूंगी चाहे एक्ट हो, चाहे अध्यादेश हो, सामंजस्य का रास्ता बनाकर ही राम मंदिर निर्माण का रास्ता निकालना चाहिए और इसमें सबको सहयोग करना चाहिए. इस बात के साथ होना चाहिए कि आप (राम मंदिर निर्माण की) बात शुरू करो हम आपका साथ दे देंगे. यह पहल अटल जी के समय भी हुई थी और चंद्रशेखर जी के समय पर भी हुई थी.’’

जब उनसे सवाल किया गया कि क्या मोदी का जादू अब भी चलेगा तो उन्होंने कहा, ‘‘मोदी का जादू तो चलेगा. अभी हमने त्रिपुरा में विभिन्न नगर निकाय चुनाव जीते हैं. वह अपने आप में बहुत बड़ी कठिन बात थी. वहां हमारी सरकार बनना कठिन बात थी. इसलिए मोदी का जादू अभी चल रहा है.’’

उमा ने उदाहरण देते हुए कहा कि साल 2003 में हम सब विधानसभा में जीते थे, लेकिन साल 2004 में लोकसभा में हार गए थे. ऐसा भी होता है कि जो विधानसभा में होता है वह लोकसभा में न हो.