ब्रिटेन के आम चुनाव में बोरिस जॉनसन को पूर्ण बहुमत

| December 13, 2019

UK General Election: Boris Johnson absolute majority in exit poll

 

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने आम चुनाव में बहुमत हासिल कर लिया है.  इस जीत के साथ ही ब्रेग्जिट पर अनिश्चितता खत्म हो जाएगी और ब्रिटेन की अगले महीने के अंत तक यूरोपीय संघ से अलग होने की राह आसान हो जाएगी.

स्काई न्यूज और बीबीसी के अनुसार, चुनाव नतीजे दिखाते हैं कि बोरिस की अगुवाई वाली कंजर्वेटिव पार्टी ने निचले सदन हाउस ऑफ कॉमन्स में 650 सीटों में से 326 सीटें जीत ली हैं.

पिछले पांच साल में ब्रिटेन का यह तीसरा आम चुनाव रहा.

जॉनसन (55) ने कहा कि इस जीत से उन्हें ‘ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से अलग करने’ और अगले महीने तक ब्रेग्जिट करने का जनादेश मिला है.

एग्जिट पोल आने के बाद ही जेरेमी कोर्बिन ने लेबर पार्टी के प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया.

समय से पहले कराया जा रहा यह चुनाव यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने (ब्रेक्जिट) के भविष्य को तय करेगा.

लेबर पार्टी के शैडो चांस्लर जॉन मैकडॉनल ने पूर्वानुमान के सही होने की स्थिति में इसे निराशाजनक बताया जबकि प्रधानमंत्री जॉनसन ने लोगों को शुक्रिया कहा है.

इस चुनाव के जरिए मतदाता ईयू से बाहर होने के कंजरवेटिव पार्टी के वादे तथा 28 सदस्यीय आर्थिक संगठन के साथ देश के भविष्य के संबंध पर एक और जनमत संग्रह के बीच में से किसी एक विकल्प को चुनेंगे.

12 दिसंबर को समूचे ब्रिटेन (इंग्लैंड, वेल्स, स्कॉटलैंड और उत्तरी आयरलैंड) में मतदान केंद्र सुबह-सुबह खुल गये जहां कुल 3322 उम्मीदवार हाउस ऑफ कॉमंस की 650 सीटों के लिए अपनी चुनावी किस्मत आजमाया.

समय से पहले आम चुनाव कराने की जॉनसन की यह कोशिश अपनी कंजरवेटिव पार्टी के लिए बहुमत हासिल करने और संसद के रास्ते ब्रेक्जिट करार को अंजाम तक पहुंचाने के लिए है.

ब्रिटेन को ईयू से अलग होना है लेकिन इसकी शर्तों पर संसदीय सर्वसम्मति नहीं बन पाई और यह बार-बार समय सीमा के अंदर इस लक्ष्य को हासिल करने में नाकाम रहा. आखिरी समय सीमा 31 अक्टूबर की थी.

जॉनसन ने 31 जनवरी 2020 की नई सीमा के साथ इस चुनाव को पार्टी के ‘गेट ब्रेक्जिट डन’ (ब्रेक्जिट पूरा कर लो) के संदेश के साथ ब्रेक्जिट चुनाव का रूप दे दिया, वहीं विपक्षी लेबर पार्टी एवं अन्य ने सरकार पोषित राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा जैसे घरेलू मुद्दों को लेकर उनकी टोरी सरकार की नाकामियों की ओर मतदाताओं का ध्यान खींचने पर जोर दिया है.

अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और रात 10 बजे मतदान खत्म होने पर मतगणना शुरू हुई.

अगर हाउस ऑफ कॉमंस में किसी पार्टी के आधे सांसद (326) चुनकर आते हैं तो आमतौर पर वही पार्टी सरकार बनाती है. अगर किसी भी पार्टी के पास बहुमत नहीं है तो वह एक या दो अन्य दलों के अधिकतर सांसदों का गठबंधन बनाकर सरकार बना सकती है.

यह चुनाव 1974 के बाद से सर्दियों के मौसम में पहला चुनाव और दिसंबर के महीने में 1923 से पहला चुनाव है.

इससे पहले ब्रिटेन में हुए आम चुनाव के एग्जिट पोल में कंजरवेटिव पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा था.

बीबीसी-स्काई-आईटीवी के एग्जिट पोल  में  कंजरवेटिव पार्टी को 368, लेबर पार्टी को 191, लिबरल डेमोक्रेट्स को 13, एसएनपी को 55 जबकि ब्रेग्जिट पार्टी को एक भी सीट नहीं मिलने का अनुमान लगाया गया था.


Big News