मंदसौर गोलीकांड के विरोध के दौरान हुए आगजनी मामले में पूर्व विधायक शकुंतला खटीक को तीन साल कैद

Team NewsPlatform | December 1, 2019

shakuntala khatik & 7 others imprisoned for 3 years in 2017 Mandsaur firing case

  YouTube

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार को विधायकों और सांसदों के मामलों के लिए गठित स्पेशल कोर्ट ने कांग्रेस की पूर्व विधायक शकुंतला खटीक सहित सात लोगों को धरना प्रदर्शन के दौरान पुलिस थाने में आगजनी को उकसाने के आरोप में तीन साल की सजा सुनाई.

घटना 12 जून, 2017 को करेरा पुलिस थाना शिवपुरी में हुई थी.

कांग्रेस पार्टी मंदसौर में हुए गोलीकांड के विरोध में प्रदेशभर में धरना प्रदर्शन कर रही थी. इसी दौरान करेरा की पूर्व विधायक खटीक ने लोगों के साथ धरना प्रदर्शन किया. पुलिस बल ने धरना स्थल पर पहुंचकर भीड़ पर काबू करने की कोशिश की और लोगों पर वॉटर कैनन से पानी डालना शुरू कर दिया.

खटीक ने भीड़ को उकसाते हुए थाने में आग लगाने को कहा, जिसके बाद भीड़ ने आग लगाने की कोशिश की. हालांकि कोई अप्रिय घटना होने से पहले पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण कर लिया.

विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह ने मामले में खटीक सहित सात लोगों पर पांच हजार रुपये का जुर्माना लगाया और तीन साल की सजा सुनाई.


ताज़ा ख़बरें