भविष्य निधि घोटाला: योगी सरकार ने किया अधिकारियों का तबादला

provident fund scam uppcl ex md arrested

  Twitter

उत्तर प्रदेश शासन ने सचिव ऊर्जा और उप्र पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड की प्रबंध निदेशक अपर्णा यू को उनके पद से हटा दिया गया है और उनकी जगह पर वरिष्ठ अधिकारी एम देवराज को कमान सौंपी गयी है.

उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन के कर्मचारियों की भविष्य निधि के करीब 2,600 करोड़ रुपये का अनियमित तरीके से निजी संस्था डीएचएफएल में कथित निवेश किए जाने के खुलासे के बाद यह कदम शासन द्वारा उठाया गया है .

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र से प्रतिनियुक्ति से वापस लौटे एम देवराज को सचिव ऊर्जा व प्रबंध निदेशक उप्र पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड की कमान सौंपी गयी है जबकि अपर्णा यू को सचिव सिंचाई विभाग का काम सौंपा गया है.

इस कथित घोटाले के खुलासे के बाद से ही विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और कांग्रेस लगातार प्रदेश सरकार पर हमलावर हैं और उर्जा मंत्री को हटाये जाने की मांग कर रहे हैं.

चार नवम्बर को ही उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता और सपा विधायक राम गोविंद चौधरी ने बलिया में बिजलीकर्मियों की भविष्य निधि में हुए 2,600 करोड़ के कथित घोटाले के मामले में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और विभाग के प्रमुख सचिव को बर्खास्त कर जेल भेजने तथा घोटाले की उच्च न्यायालय के किसी सेवारत जज से कराने की मांग की है.


Opinion

Democracy Dialogues


Humans of Democracy

arun pandiyan sundaram
Arun Pandiyan Sundaram

उत्तर प्रदेश शासन ने सचिव ऊर्जा और उप्र पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड की

saral patel
Saral Patel

उत्तर प्रदेश शासन ने सचिव ऊर्जा और उप्र पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड की

ruchira chaturvedi
Ruchira Chaturvedi

उत्तर प्रदेश शासन ने सचिव ऊर्जा और उप्र पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड की


© COPYRIGHT News Platform 2020. ALL RIGHTS RESERVED.