सुर्ख़ियां


पीएम की टिप्पणी आकाश विजयवर्गीय के लिए नहीं थी: बाबू सिंह रघुवंशी

Akash Vijayvargiya has no regret regarding beating a government officer

 

बीजेपी के मध्य प्रदेश अनुशासन समिति के संयोजक बाबू सिंह रघुवंशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुशासनहीनता वाली टिप्पणी आकाश विजयवर्गीय के सन्दर्भ में नहीं की थी.

आकाश विजयवर्गीय इन दिनों मध्यप्रदेश विधानसभा में चल रहे बजट सत्र में शामिल हो रहे हैं. वे मध्य प्रदेश के इंदौर से विधायक हैं.

जर्जर भवन ढहाने की मुहिम के दौरान विवाद के बाद बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय ने 26 जून को इन्दौर में नगर निगम के एक भवन निरीक्षक को क्रिकेट के बैट से पीट दिया था. आकाश (34) बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं और नवंबर 2018 के विधानसभा चुनाव में इन्दौर-3 विधानसभा सीट से जीतकर पहली बार विधायक बने हैं.

आकाश के रवैए को जायज बताते हुए रघुवंशी ने कहा, “मैं भी एक वकील हूं और जब किसी को उकसाया जाता है, जिस तरह आकाश के साथ हुआ तो उसके लिए सजा भी अलग है.”

अब तक लगभग तीन हफ्ते पहले की गई प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी को घटना की निंदा करने के रूप में देखा जा रहा था. हालांकि बाद में आकाश ने भी कहा था कि उन्हें अपने करने का कोई मलाल नहीं है.

उम्मीद की जा रही थी कि आकाश के प्रति बीजेपी की अनुशासन समिति कोई ठोस कदम उठाएगी, लेकिन अब तक ऐसा नहीं हुआ है.

रघुवंशी ने संडे एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, “क्या प्रधानमंत्री ने आकाश का नाम लिया था? अनुशासनहीनता के कई अन्य मामले भी थे, शायद पीएम उसकी बात कर रहे होंगे. क्या कोई ऑडियो या वीडियो है जिसमें पीएम ने इस बारे में कुछ कहा है? अगर प्रधानमंत्री ने घटना की निंदा की है तो यह किसी भी तरह की सजा से बढ़कर है.”

2 जुलाई को बीजेपी संसदीय बोर्ड को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा था, “चाहे कोई भी हो, चाहे कोई किसी का बेटा ही क्यों न हो, उसका दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.”
उन्होंने जमानत पर छूटने के बाद आकाश का स्वागत करने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की तरफ भी इशारा किया था.