सुर्ख़ियां


किसी का भी बेटा हो, मनमानी नहीं चलेगी: पीएम मोदी

due to govt manipulation of economic data investor shifting to other data sources

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के सदस्यों को साफ तौर पर कहा है कि किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार जो पार्टी की गरिमा पर चोट पहुंचाए वह अस्वीकार्य है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार बीजेपी संसदीय दल की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने आगे यह भी कहा कि चाहे वह कोई भी हो, किसी का भी बेटा हो, “मनमानी नहीं चलेगी. इस तरह का अहंकार और दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हालांकि मोदी ने इस संदर्भ में किसी का नाम नहीं लिया.

यह जानकारी बीजेपी के सांसद राजीव प्रताप रुडी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान संसद के बाहर दी.

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि जिन लोगों ने स्वागत किया है, उन्हें पार्टी में रहने का हक नहीं है, सभी को पार्टी से निकाल देना चाहिए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उन सांसदों को कड़ी चेतावनी दी जो संसद में बहस के दौरान गैर हाजिर रहे. इसके साथ ही, प्रधानमंत्री मोदी ने सख्त संदेश देते हुए कहा कि सांसदों की सदन में हाजिरी पर पार्टी करीब से नजर रख रही है.

गौरतलब है कि कुछ ही दिनों पहले इंदौर नगर निगम का दल गंजी परिसर क्षेत्र में एक जर्जर मकान को गिराने को पहुंचा था. इसकी सूचना मिलने पर बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय की नगर निगम कर्मियों से नोकझोंक हो गई और आकाश ने नगर निगम अधिकारी की बल्ले से पिटाई कर दी.

इस घटना को लेकर पुलिस में मामला दर्ज करवाया गया और आकाश को जेल भेज दिया गया था. बाद में उनकी रिहाई के बाद उनके समर्थकों ने जश्न मनाया था और फूलों से स्वागत किया था.

जेल से जमानत पर छूटने के बाद आकाश ने कहा था कि वह जनता की सेवा करते रहेंगे लेकिन उन्होंने इस घटना पर खेद प्रकट नहीं किया था.

आकाश के पिता और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी. उन्होंने कहा था, “आकाशजी और कमिश्नर दोनों कच्चे खिलाड़ी हैं. यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं था लेकिन इसे बड़ा बनाया गया.” उन्होंने कहा था, “मुझे लगता है कि अधिकारियों को अहंकारी नहीं होना चाहिए.”