पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र भारतीय उड़ानों के लिए 30 मई तक बंद रहेगा

Madhya Pradesh: Indore Airport declared international airport

 

पाकिस्तान ने भारतीय उड़ानों के लिए अपने हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को 30 मई तक नहीं हटाने का बुधवार को निर्णय लिया क्योंकि उसे भारत में लोकसभा चुनावों के नतीजों का इंतजार है.

पाकिस्तान ने 26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शिविर पर भारतीय वायुसेना के हमले के बाद अपने हवाई क्षेत्र को पूरी तरह से बंद कर दिया था. पाकिस्तान ने 27 मार्च को नई दिल्ली, बैंकॉक और कुआलालंपुर को छोड़कर सभी उड़ानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र खोल दिया था.

बैठक के बाद एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, “रक्षा और विमानन मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारियों ने बुधवार को भारतीय उड़ानों के लिए अपने हवाई क्षेत्र को खोलने पर पुनर्विचार करने के लिए एक बैठक आयोजित की. उन्होंने फैसला किया कि पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में 30 मई तक भारतीय उड़ानों के लिए प्रतिबंध जारी रहेगा.”

अधिकारी ने कहा कि सरकार अब भारतीय उड़ानों के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र पर प्रतिबंध हटाने के लिए 30 मई को विचार करेगी.

पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि भारत में चुनाव की समाप्ति तक यथास्थिति बनी रहेगी.

चौधरी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, “भारत में चुनाव समाप्त होने तक यथास्थिति बनी रहेगी. मुझे चुनाव खत्म होने और एक नई सरकार बनने तक पाकिस्तान और भारत के संबंधों में कोई सुधार नहीं दिखता है. मेरा मानना है कि एक-दूसरे के हवाई क्षेत्र में प्रतिबंध भारतीय चुनावों की समाप्ति तक जारी रहेगा.”

भारत द्वारा अपने हवाई क्षेत्र पर उड़ान प्रतिबंध के कारण, पाकिस्तान ने बैंकॉक, कुआलालंपुर के लिए अपने संचालन को बंद कर दिया है, जिससे प्रति दिन लाखों रुपये का नुकसान हो रहा है. पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) कुआलालंपुर के लिए चार उड़ानें दो बैंकॉक और दो नई दिल्ली के लिए संचालित करता था.

पीआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि पीआईए का नुकसान विशेष रूप से बैंकॉक और कुआलालंपुर के लिए उड़ानों के बंद होने के कारण अरबों रुपये में चल रहा है.


Opinion

Democracy Dialogue



Infographics

© COPYRIGHT News Platform 2020. ALL RIGHTS RESERVED.