निर्भया के मुजरिम पहुंचे अदालत, तिहाड़ जेल पर कुछ खास दस्तावेज देने में लगाया देरी का आरोप

Team NewsPlatform | January 24, 2020

delhi hc reserves its order in nirbhaya case

 

साल 2012 के बहुचर्चित निर्भया बलात्कार एवं हत्याकांड में मौत की सजा मुकर्रर किए गए चार मुजरिमों में से दो के वकील ने यह आरोप लगाते हुए दिल्ली की एक अदालत का दरवाजा खटखटाया है कि तिहाड़ जेल प्रशासन कुछ खास दस्तावेजों को सौंपने में देरी कर रहा है.

वकील एपी सिंह ने यह आरोप लगाते हुए अर्जी लगाई कि जेल प्रशासन ने अब तक दस्तावेज नहीं सौंपे हैं जिनकी अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन सिंह (25) के लिए सुधारात्मक याचिका दायर करने के लिए जरूरत है.

इस अर्जी पर शनिवार को सुनवाई होने की संभावना है.

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दो अन्य मुजरिमों विनय कुमार शर्मा (26) और मुकेश सिंह (32) की सुधारात्मक याचिका खारिज कर दी थी.

चारों मुजरिमों को अदालत के आदेश के अनुसार एक फरवरी को सुबह छह बजे फांसी पर चढ़ाया जाना है.

16 दिसंबर, 2012 को दक्षिण दिल्ली में एक चलती बस में 23 वर्षीय एक पैरामेडिकल छात्रा के साथ छह लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया गया था और उस पर नृशंस हमला किया गया था. उसके बाद पीड़िता को चलती बस से फेंक दिया गया था.


ताज़ा ख़बरें