सुर्ख़ियां


119 साल में दिल्ली का दूसरा सबसे सर्द दिन

monday remains the coldest day in 119 yeras in delhi

 

दिल्ली में 30 दिसंबर को अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में आज का दिन पिछले 119 साल में दिसंबर का सबसे सर्द दिन दर्ज किया गया.

राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार का दिन वर्ष 1901 के बाद से दिसंबर का सबसे सर्द दिन रहा और दिसंबर से फरवरी के बीच यह वर्ष 1951 के बाद सबसे ठंडा दिन था.

मौसम विभाग ने बताया कि सफदरजंग वेधशाला में दोपहर ढाई बजे तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

सफदरजंग वेधशाला के अनुसार न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री कम है और हवा में नमी का स्तर 100 प्रतिशत दर्ज किया गया.

सोमवार की सुबह राष्ट्रीय राजधानी भीषण कोहरे की गिरफ्त में रही और इस दौरान दृश्यता बेहद कम रही. कोहरे के चलते ट्रेन एवं विमान सेवाएं प्रभावित रहीं. कुछ वेधशालाओं में दृश्यता नहीं के बराबर दर्ज की गई.

पालम में न्यूनतम तापमान 2.9, लोधी रोड में 2.2 और आयानगर में 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, ‘सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह वर्ष 1901 के बाद दिसंबर में सबसे ठंडा दिन रहा.’

दिल्ली की वायु गुणवत्ता सुबह 8 बजकर 38 मिनट पर गंभीर श्रेणी में दर्ज की गई. इस दौरान एक्यूआई 450 रहा.

सफदरजंग और पालम वेधशालाओं में सुबह साढ़े आठ बजे दृश्यता शून्य मीटर दर्ज की गई. वहीं सुबह साढ़े पांच बजे सफदरजंग में दृश्यता 100 मीटर और पालम में शून्य मीटर दर्ज की गई थी.

घने कोहरे के चलते 530 उड़ानों में देरी हुई, 40 को रद्द करना पड़ा और 21 उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया.

रेल अधिकारियों ने बताया कि 71 ट्रेनें देरी से चलीं. दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी साढ़े सात घंटे की देरी से चली.

मंगलवार को न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने की संभावना है.

राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार, 28 दिसंबर इस मौसम के सबसे ठंडे दिन के तौर पर दर्ज किया गया जब न्यूनतम तापमान सुबह 2.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था.