मध्य प्रदेश हनी ट्रैप मामला : अखबार सांझ लोकस्वामी का दफ्तर ढहाया गया

Team NewsPlatform | December 11, 2019

indore police run bulldozer over an evening daily owner jitendra soni's office  who published news about honey trap

  प्रतिकात्मक तस्वीर

इंदौर से प्रकाशित अखबार सांझ लोकस्वामी के फरार मालिक और संपादक जितेंद्र सोनी 2,500 वर्ग फुट से ज्यादा क्षेत्रफल पर अवैध रूप से बने दफ्तर को तोड़ दिया गया है.

यह अखबार सूबे के कुख्यात हनी ट्रैप मामले की सनसनीखेज खबरें छापने के बाद चर्चा में चल रहा था.

जितेंद्र सोनी पर मानव तस्करी समेत कई आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं. वह पिछले 12 दिन से फरार चल रहे हैं.

सोनी सांझ लोकस्वामी के मालिक और प्रधान संपादक भी हैं. यह अखबार प्रदेश के कुख्यात हनी ट्रैप मामले में फंसे राजनेताओं और नौकरशाही से जुड़े रसूखदार लोगों से कथित रूप से संबंधित ऑडियो-वीडियो पर आधारित खबरें पिछले कई दिनों से प्रकाशित और प्रसारित कर रहा था.

यह भी पढ़ें- सांझ लोकस्वामी के संपादक पर 10,000 रुपये का इनाम,अखबार का प्रकाशन बंद

 

इंदौर नगर निगम (आईएमसी) के आयुक्त आशीष सिंह ने बताया, ‘इस दफ्तर के निर्माण के लिए आईएमसी से कोई अनुमति नहीं ली गई थी. इस बारे में शिकायत मिलने पर हमने दफ्तर के मालिक के नाम सात दिन पहले नोटिस जारी किया था. लेकिन न तो इस नोटिस का जवाब दिया गया न ही इस दफ्तर के निर्माण की अनुमति के दस्तावेज पेश किये गए हैं.’

आईएमसी आयुक्त ने बताया कि गड़बड़ियों की अलग-अलग शिकायतें सही पाए जाने पर शहर में सोनी के दो बंगले, नाइट क्लब, होटल और रेस्तरां के अन्य अवैध निर्माण भी बीते सात दिनों में हटा दिये गये हैं.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सोनी को मानव तस्करी समेत 30 से ज्यादा आपराधिक मामलों में कथित भूमिका के लिये ढूंढा जा रहा है. उनकी गिरफ्तारी पर 30,000 रुपये का इनाम घोषित है.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हनी ट्रैप मामले के शिकायतकर्ता और इंदौर नगर निगम के निलंबित अधीक्षण इंजीनियर हरभजन सिंह (60) ने इस हाई प्रोफाइल सेक्स कांड को लेकर सांध्य दैनिक में अपने बारे में 29 नवम्बर को छपी खबर पर आपत्ति जताई थी. इसके साथ ही सोनी के खिलाफ आईटी एक्ट के संबद्ध प्रावधानों के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी थी. इसके बाद 30 नवंबर की रात से सोनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की शुरुआत की गयी थी.


ताज़ा ख़बरें