सुर्ख़ियां


प्रदूषण के ‘खतरनाक’ स्तर को लेकर दिल्ली सरकार ने जारी की एडवाइजरी

NGT suggests stipend for labourers during construction bans in pollution-hit Delhi

 

दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता के खतरनाक स्तर को लेकर दिल्ली सरकार ने लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की है. सरकार पहले ही हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर चुकी है. इस एडवाइजरी में पांच साल से कम उम्र के बच्चों, वृद्ध व्यक्तियों और गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी गई है.

एडवाइजरी में सरकार ने कहा है कि दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुंच चुका है. ज्यादा समय तक इसके संपर्क में रहने से स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकते हैं. पांच साल से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, सांस की बीमारियों से जूझ रहे व्यक्तियों और वृद्धों के स्वास्थ्य पर कम समय में भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है.

दिल्ली सरकार ने लोगों से अपील की है कि वे घर से बाहर की गतिविधियों, खासकर सुबह और शाम के समय, पर रोक लगाएं और ज्यादा से ज्यादा समय घर के भीतर व्यतीत करें.

सरकार ने कहा है कि जो व्यक्ति बाहर काम करते हैं, जैसे ट्रैफिक पुलिस, रेहड़ी और रिक्शा चलाने वाले, वे लोग अपना ज्यादा से ज्यादा ख्याल रखें.

दिल्ली सरकार ने सलाह दी है कि सांस ना आने, सीने में दर्द, कफ, चक्कर आने की स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें. साथ ही जिन लोगों को सांस संबंधी परेशानी है, वे हर समय अपने साथ दवाइयां रखें.

दिल्ली सरकार ने N95 सर्टिफाइड मास्क का प्रयोग करने की सलाह दी है. इसके साथ ही यातायात के सार्वजनिक साधनों का अधिक से अधिक प्रयोग करने की सलाह जारी की है. वहीं खाना पकाने के लिए धुआंरहित गैस और बिजली का प्रयोग करने की भी सलाह भी दी है.

दिल्ली सरकार ने कहा है कि लोग लकड़ियां, पत्तियां और कूड़ा ना जलाएं. साथ ही ऐसे स्थानों से दूर रहें जहां हेवी ट्रैफिक और निर्माण कार्य हो रहा हो. साथ ही मॉर्निंग वॉक और व्यायाम से परहेज करें.

सुबह और शाम के समय घर की खिड़कियां और दरवाजे ना खोलें और सिगरेट, बीड़ी और तंबाकू के दूसरे उत्पादों का सेवन ना करें.