सुर्ख़ियां


सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर हिंसा को बताया हादसा

Uttar Pradesh: Recommendation of responsibility for police officers in case of Mob lining

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने पिछले बयान से पलटते हुए बुलंदशहर हिंसा को एक हादसा करार दिया है. इससे पहले उन्होंने हिंसा के बाद हुई समीक्षा बैठक में कहा था कि यह एक बड़ी साजिश का हिस्सा है.

सात दिसंबर को दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान राज्य में कोई मॉब लिंचिंग नहीं हुई है, जो कुछ भी बुलंदशहर में हुआ है वह दुर्घटना है.

उन्होंने कहा कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.

उन्होंने कहा, “यूपी में कोई मॉब लिंचिंग की घटना नहीं हुई है… बुलंदशहर में जो घटना हुई, वह एक दुर्घटना है… कानून अपना काम कर रहा है… किसी को बख्शा नहीं जाएगा. सिर्फ गोहत्या ही नहीं, अवैध गोकशी भी यूपी में पूरी तरह बैन है और डीएम-एसपी की इस पर पूरी तरह से जवाबदेही तय कर दी गई है.”

बुलंदशहर के स्याना में कथित गोकशी के बाद भड़की हिंसा में मौके पर तैनात इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक अन्य व्यक्ति सुमित सिंह की मौत हो गई थी.

इससे पहले योगी आदित्यनाथ मृतक इंस्पेक्टर के परिवार से मिल चुके हैं.  उन्होंने पीड़ित परिवार को 50 लाख मुआवजा देने की घोषणा की थी. इस मामले में उन्होंने दो दिनों में प्राथमिक रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था.