पूर्वोत्तर का नस्लीय सफाये का प्रयास है नागरिकता विधेयक: राहुल गांधी

Team NewsPlatform | December 11, 2019

rahul gandhi condemn khattar's comment on kashmiri women

 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि ‘मोदी-शाह सरकार’ नागरिकता संशोधन विधेयक के माध्यम से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाये का प्रयास कर रही है.

उन्होंने विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर में प्रदर्शन होने से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए यह भी कहा कि वह पूर्वोत्तर की जनता के साथ मजबूती से खड़े हैं.

गांधी ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ”नागरिकता विधेयक मोदी-शाह सरकार की ओर से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाये का प्रयास है. यह पूर्वोत्तर के लोगों, उनकी जीवन पद्धति और भारत के विचार पर हमला है.’

उन्होंने कहा, ”मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और उनकी सेवा के लिए हाजिर हूं.”

इस विधेयक को 11 दिसंबर को चर्चा और पारित कराने के मकसद से राज्यसभा में लाया जाएगा.

कांग्रेस इस विधेयक को ‘असंवैधानिक’ करार देते हुए इसका विरोध कर रही है.

गौरतलब है कि लोकसभा ने सोमवार रात नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है.


ताज़ा ख़बरें