सुर्ख़ियां


ब्रिटिश उच्चायोग ने की मिशेल को राजनयिक पहुंच देने की मांग

British High Commission seeks diplomatic access to Michelle

 

ब्रिटिश उच्चायोग ने ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल को राजनयिक पहुंच देने की मांग की है।अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में जांच के लिए चार दिसंबर को मिशेल को अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में जांच के लिए भारत लाया गया था. फिलहाल मिशेल सीबीआई की पांच दिन की हिरासत में हैं.

उच्चायोग के एक प्रवक्ता ने बताया कि मिशेल की ‘परिस्थितियों’ पर भारतीय अधिकारियों से तत्काल जानकारी मांगी गई है और ब्रिटिश सरकार उनके परिवार के संपर्क में है।

नाम ना बताने की शर्त पर उच्चायोग के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि मिशेल को राजनयिक पहुंच देने की मांग की है।

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारे कर्मचारी संयुक्त अरब अमीरात में हिरासत में लिए जाने के बाद से ही ब्रिटिश व्यक्ति के परिवार का लगातार सहयोग कर रहे हैं। हम उनके मामले के संबंध में उनके परिवार और अमीरात के अधिकारियों के संपर्क में हैं और उनकी परिस्थितियों पर भारतीय अधिकारियों से तत्काल जानकारी मांगी है।’’

मिशेल इस सौदे में शामिल तीन बिचौलियों में से एक है। 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में ग्यूडो हैशके और कार्लो गेरोसा अन्य बिचौलिए हैं।

सीबीआई ने आरोप लगाया है कि वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति के लिए आठ फरवरी 2010 को हुए सौदे से राजकोष को तकरीबन 2,666 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचा।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ दाखिल अपने आरोप पत्र में कहा कि उसे अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये मिले थे।