राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने के प्रस्ताव से नाराज अलका लांबा देंगी इस्तीफ़ा

| December 22, 2018

ex mla of aap alka lamba joins congress

 

आम आदमी पार्टी (आप) विधायक अलका लांबा ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिए गए ‘भारत रत्न’ सम्मान को वापस लेने की मांग पर नाराजगी जाहिर की है. इस संबंध में विधानसभा में पेश कथित प्रस्ताव का विरोध करते हुए उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा देने की बात कही है.

लांबा ने कहा, “मैं इस प्रस्ताव का समर्थन नहीं करती हूं. विधानसभा में इस प्रस्ताव को पेश किए जाने पर मैं सदन से बाहर आ गई. बाद में जब मुझे प्रस्ताव पारित होने की जानकारी मिली तो मैंने इस पर आप संयोजक अरविंद केजरीवाल से बात की.”

उन्होंने बताया, “केजरीवाल ने मुझसे विधायक पद से इस्तीफ़ा देने को कह दिया है. इसलिए मैं पार्टी प्रमुख के आदेश का पालन करते हुए इस्तीफ़ा देने जा रही हूं.”

अलका ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आज दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव लाया गया कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी को दिया गया भारत रत्न वापस लिया जाना चाहिए, मुझे मेरे भाषण में इसका समर्थन करने के लिये कहा गया, जो मुझे मंजूर नहीं था, मैंने सदन से वॉकआउट किया. अब इसकी जो सजा मिलेगी मैं उसके लिये तैयार हूं.’’

लांबा ने कहा कि किसी व्यक्ति को किसी एक कार्य के लिये भारत रत्न नहीं मिलता है. देश के लिए जीवन पर्यन्त उल्लेखनीय कार्यों के लिए यह सम्मान दिया जाता है. इसलिए किसी एक वजह से भारत रत्न वापस लेने की बात का समर्थन करना उचित नहीं है.

उन्होंने कहा, “राजीव जी ने देश के लिए क़ुर्बानी दी है, इस बात को नहीं भुलाया जा सकता है.”

उल्लेखनीय है कि दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार को आप के दो विधायकों ने सिख दंगा मामले का हवाला देते हुए राजीव गांधी का भारत रत्न सम्मान वापस लिए जाने की केंद्र सरकार से मांग करने वाला प्रस्ताव पेश किया था. फ़िलहाल इस बारे में आप की तरफ़ से कोई अधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी गयी.


ताज़ा ख़बरें

Opinion

Humans of Democracy