सुर्ख़ियां


जेएनयू के छात्रों पर हमला करने वाले नकाबपोश समूह में शामिल थे एबीवीपी के सदस्य: टीवी स्टिंग

jnu administration step to charge-sheet teachers should be termed as national shame

 

आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्य पांच जनवरी को जेएनयू के छात्रों पर हमला करने वाले नकाबपोश समूह में शामिल थे. यह दावा एक समाचार चैनल ने एक स्टिंग करके किया है.

जेएनयू में हुए उक्त हमले में 35 लोग घायल हुए थे.

समाचार चैनल ‘इंडिया टुडे’ द्वारा किए गए स्टिंग के कथित वीडियो में दिख रहे दो संदिग्धों ने कहा कि वे एबीवीपी के सदस्य हैं और विश्वविद्यालय में ‘बैचलर्स इन फ्रेंच’ की पढ़ाई कर रहे हैं.

वहीं एबीवीपी ने यह कहते हुए आरोपों को खारिज कर दिया कि कथित वीडियो में दिख रहे दोनों छात्र उसके सदस्य नहीं हैं.

स्टिंग वीडियो में छात्र यह स्वीकार करते हुए दिख रहे हैं कि वे विश्वविद्यालय के साबरमती छात्रावास के बाहर हुई हिंसा में शामिल थे.

एक वीडियो में, एक और संदिग्ध यह स्वीकार करते हुए दिख रहा है कि एबीवीपी के 20 से अधिक सदस्य नकाबपोश समूह का हिस्सा थे.

वामपंथ की ओर झुकाव रखने वाले छात्र इकाई से संबद्ध एक छात्रा पर भी स्टिंग किया गया है, जिसमें पूर्व जेएनयू छात्रसंघ पदाधिकारी यह कहती हुई दिख रही है कि वह जेएनयू सेंटर फॉर इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स में सर्वर डाउन करने वाले समूह का हिस्सा थी.

इस मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है, लेकिन किसी भी छात्र को आरोपी के रूप में नामजद नहीं किया गया है.