सुर्ख़ियां


वित्त मंत्री ने किया कोविड-19 राहत पैकेज का एलान, कहा- “कोई भूखा नहीं सोएगा”

service activities falls to lowest in September says PMI survey

 

कोरोना वायरस के कारण राष्ट्रव्यापी बंद के बीच सबसे अधिक प्रभावितों को मदद पहुंचाने के उद्देश्य से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक लाख 70 हजार करोड़ रुपये के कोविड-19 राहत पैकेज की घोषणा की है.

कोरोना महामारी से लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 50 लाख के बीमा कवर और गरीबों को अगले तीन महीने तक मुफ्त राशन देना का सरकार ने एलान किया है.

निर्मला सीतारमण ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में पैकेज की घोषणा करते हुए कहा, ”पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ गरीब लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी ताकि कोई गरीब भूखा नहीं रहे. इसके तकत 5 किलो गेहूं या चावल तीन महीने तक मिलेगा. 80 करोड़ लाभार्थियों को फायदा. पीडीएस से मिलने वाले लाभ से इतर होगा. एक किलो दाल का भी प्रावधान. ये मुफ्त होगा.”

उन्होंने कहा, ”पीएम किसान योजना के तहत किसानों को हर साल 6000 रुपये दिए जाते हैं. अप्रैल के पहले हफ्ते में 2000 रुपये की किस्त खाते में डाल दी जाएगी. 8 करोड़ से ज्यादा किसानों को लाभ मिलेगा. मजदूरों के लिए मनरेगा के तहत मजदूरी को बढ़ाकर 182 रुपये से 202 रुपये कर दिया गया है. 20 करोड़ महिला जनधन खातों में अगले तीन महीने तक 500 रुपये हर महीने डाले जाएंगे. गरीब वृद्ध-विधवा-दिव्यांग को मदद दी जाएगी. अन्न-धन और गैस की चिंता पर ध्यान दिया जाएगा. उज्जवला योजना के तहत अगले तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर का एलान किया गया. महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप को लोन मिलेगा.”

वित्त मंत्री ने कहा, ”लोन की राशि दो गुना बढ़ी. 10 लाख की जगह 20 लाख रुपए तक का लोन मिल सकेगा. बिना किसी गारंटी के लोन मिलेगा. ईपीएफ ने नियमों में बदलाव किया गया.”

एम्प्लॉयी और एम्प्लॉयर दोनों के द्वारा किया जाने वाला ईपीएफ योगदान अगले तीन महीनों के लिए सरकार करेगी. ये उन सभी कार्यालयों के लिए है जिनमें 100 से ज्यादा कर्मचारी हैं. उनमें से 90 फीसदी जो 15000 रुपये से कम सैलरी लेते हैं, उनको फायदा मिलेगा. वित्त मंत्री ने कहा कि इससे 80 लाख मजदूरों को और चार लाख संगठित इकाइयों को फायदा मिलेगा.

योजना के तहत आठ कैटगरी में किसान, मनरेगा, गरीब विधवा-पेंशनर्स-दिव्यांग, जनधन योजना-उज्ज्वला स्कीम, सेल्फ हेल्प ग्रुप (वुमन), संगठित क्षेत्र के वर्कर्स, कंस्ट्रक्शन वर्कर्स को मिलेगा डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर व प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण) का लाभ मिलेगा. बुजुर्ग, दिव्यांग और विधवा को एकमुश्त 1000 रुपये दो किस्तों मे दी जाएगी. यह अगले तीन महीने में दिया जाएगा. यह राशि अलग से मिलेगी.