चीनी अर्थव्यवस्था पर पड़ी कोरोना संकट की मार

Team NewsPlatform | April 17, 2020

 

चीनी अर्थव्यवस्था में पिछले एक दशक में पहली बार साल की पहली तिमाही में 6.8 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई. शुक्रवार को जारी हुई रिपोर्ट में सामने आए आंकड़ों से स्पष्ट है कि कोरोना वायरस का सीधा प्रभाव चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़ा है.

जनवरी महीने में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में विभिन्न फैक्टरी और उद्योग अपना संचालन रोकने पर मजबूर हो गए.

विशेषज्ञों का कहना है कि जनवरी-मार्च तिमाही में जीडीपी सिकुड़ने का प्रभाव आय में कमी, कंपनियों के दिवालिया होने और नौकरी में कमी के रूप में देखने को मिलेगा.

बीते साल की पहली तिमाही में चीन की अर्थिक वृद्धि 6.4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी. यूएस के साथ व्यापार युद्ध में होने के बावजूद उस समय चीन की अर्थव्यवस्था ने बेहतर प्रदर्शन किया था.

बीते दो दशकों में चीन की सालाना औसत आर्थिक वृद्धि 9 फीसदी रही है, हालांकि अर्थ शास्त्री चीन के डेटा पर लगातार प्रश्न खड़े करते आए हैं.

बड़े स्तर पर उत्पादन और अन्य कार्यों को रोकने और क्वारंटाइन को चीनी अर्थव्यवस्था में गिरावट का कारण माना जा रहा है.

शुक्रवार को जारी डेटा के अनुसार मार्च में चीन के फैक्टरी आउटपुट में 1.1 फीसदी की गिरावट आई. हालांकि अब चीन में कोरोना के घटते मामलों की बीच उत्पादन एक बार फिर शुरू किया गया है.

अधिकतर खरीदार और उपभोक्ता बीते कुछ महीनों से घर पर ही हैं यही वजह है कि खुदरा बिक्री 15.8 फीसदी तक घट गई. बेरोजगारी मार्च में बढ़कर 5.9 फीसदी हो गई. दर्ज करने वाली बात ये है कि फरवरी में बेरोजगारी मार्च की तुलना में अधिक थी.


Big News