युवा vs मोदी की ‘युवा सोच’

NewsPlatform | January 13, 2020

 

कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि युवाओं की सोच और ऊर्जा 21वीं सदी में भारत को बदलने का आधार है. मोदी ने ये बात उस वक्त कही है, जब देश के युवा सड़क पर हैं. वो कहीं नए नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं, तो कहीं महंगी फीस का. प्रधानमंत्री की ‘युवा सोच’ और देश के युवाओं की सोच में
इतना अंतर क्यों है?


Exclusive

Opinion

Humans of Democracy