सुर्ख़ियां


अब सड़क पर क्यों नहीं AAP?

 

आम आदमी पार्टी की शुरुआत ही दिल्ली में धरने-प्रदर्शन से हुई थी. पर पिछले दिनों दिल्ली में जामिया के छात्रों पर पुलिस ज्यादती का मसला हो या जेएनयू कैंपस में नकाबपोश बदमाशों के हमले का, केजरीवाल और उनकी पार्टी सड़क पर कहीं नजर नहीं आई. नागरिकता कानून और एनआरसी समेत जिन मसलों पर पूरा देश सड़कों पर उतर रहा है उन पर आम आदमी पार्टी की मौजूदगी ना के बराबर है. इस पार्टी के रुख में ये बदलाव क्यों दिख रहा है?