सुर्ख़ियां


ये ‘सरकार का लोकतंत्र’ है!

 

सरकार ने देशभर में जारी विरोध प्रदर्शनों को दरकिनार करते हुए नए नागरिकता कानून को लागू करने की अधिसूचना जारी कर दी है. क्या सरकार विरोध की कोई आवाज नहीं सुनना चाहती? लोकतंत्र का ये कौन सा चेहरा है जिसमें सरकार के किसी भी कदम का विरोध करना गुनाह हो गया है?