टाटा ग्रुप पर NCLAT का फैसला

| December 18, 2019

 

नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल ने टाटा सन्स बोर्ड के तीन साल पुराने फैसले को पलट दिया है और सायरस मिस्त्री को एक बार फिर से कंपनी का एक्जीक्यूटिव चेयरमैन बना दिया है. इसके साथ ही ट्रिब्यूनल ने टाटा सन्स बोर्ड के उस फैसले को भी रद्द कर दिया है जिसमें एन चंद्रशेखरन को कंपनी का एक्जिक्यूटिव चेयरमैन बनाया गया था. अपीलेट ट्रिब्यूनल के इस अहम फैसले ने देश में कॉर्पोरेट गवर्नेंस के मसले को चर्चा में ला दिया है. क्या NCLAT के फैसले से कॉरपोरेट गवर्नेंस में मनमानी पर रोक लगेगी?


Exclusive