साहित्यिक-सांस्कृतिक पत्रिका ‘अभिव्यक्ति’ (एपिसोड – 15)

| December 7, 2019

 

हिंसा, एनकाउन्टर, रेप जैसे सवाल और साहित्यकारों की चिंता, सामाजिक सरोकारों से जुड़ना चाहिए साहित्य एक बड़े सांस्कृतिक आंदोलन की सख्त जरूरत- कहते हैं विभूति नारायण राय और परिक्रमा में साहित्य और संस्कृति से जुड़ी गतिविधियां.


Exclusive