In Depth: अमृतसर कांग्रेस सेशन के सौ साल

| December 27, 2019

 

27 दिसंबर 1919 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का 34वां अधिवेशन शुरू हुआ था. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में इस अधिवेशन का खास महत्त्व है. माना जाता है कि यहीं से महात्मा गांधी का नेतृत्व कांग्रेस और राष्ट्रीय आंदोलन में स्थापित हुआ. एक और अहम बात यह है कि ये अधिवेशन रॉलेट ऐक्ट और जलियांवाला बाग नरसंहार के बाद हुआ. उसमें नागरिक अधिकारों की खास चर्चा हुई. सौ साल पहले हुए अधिवेशन की आज क्या प्रासंगिकता है, इस पर एक चर्चा.


Exclusive