सुर्ख़ियां


मध्य प्रदेश में अब भी ऊहापोह

 

तीसरे पहर तक मध्य प्रदेश की सियासी तस्वीर अब तक साफ नहीं हुई है। फिलहाल यहां सीटों के मामले में कांग्रेस 10 सीटों की बढ़त बनाए हुए है और वोट प्रतिशत के मामले में उसने फासला कम किया है। बल्कि अब वह बीजेपी से सिर्फ 0.1 प्रतिशत वोट से पीछे है। चुनाव आयोग के मुताबिक कांग्रेस 115 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है तो बीजेपी 105 सीटों पर आगे चल रही है. अगर फाइनल रिजल्ट में भी यही स्थिति बनी रहती है तो बसपा और सपा की भूमिका सरकार बनाने के लिहाज से महत्वपूर्ण होने वाली है. कांग्रेस अगर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी तो नैतिक बल उसके साथ होगा। फिलहाल बीएसपी को चार, गोंडवाणा गणतंत्र पार्टी को एक और समाजवादी पार्टी को दो सीटें मिल रही हैं। सपा नेताओं ने कहा है कि वो बीजेपी का साथ नहीं देंगे। यही बात बीएसपी ने भी कही है। इससे लगता है कि कांग्रेस के लिए अनुकूल स्थितियां बन सकती हैं, मगर क्या सियासी दांव में वह बीजेपी को सचमुच पछाड़ देगी, यह देखने की बात होगी।