सुर्ख़ियां


छत्तीसगढ़ और मिजोरम की तस्वीर साफ

 

दो घंटे से अधिक समय बाद निर्वाचन आयोग की वेबसाइट दोबारा चालू हुई. इससे पांचों राज्यों में हो रही मतगणना की आधिकारिक सूचनाएं फिर से मिलनी शुरू हुईं. निर्वाचन आयोग की साइट की विशेषता यह है कि इसमें सीटों के ट्रेंड के साथ-साथ वोट प्रतिशत की इंस्टैंट जानकारी भी मिलती है.

अब सामने आ रही सूचनाओं पर गौर करें तो छत्तीसगढ़ और तेलंगाना की स्थिति लगभग साफ हो गई लगती है. तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव की तेलंगाना राष्ट्र समिति की सत्ता में जोरदार वापसी हो रही है. वोट प्रतिशत पर नज़र डालें तो इस मामले में कोई संदेह नहीं बचता. निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर 119 विधान सभा क्षेत्रों से प्राप्त सूचनाएं मौजूद हैं. इसके मुताबिक टीआरएस को 47 फीसदी से ज्यादा वोट मिल रहे हैं. कांग्रेस-टीडीपी का गठबंधन लगभग 32 प्रतिशत वोट ही हासिल रहा है. जब वोटों का अंतर तकरीबन 17 प्रतिशत का हो, तो चुनाव परिणाम के एकतरफा होने में कोई संदेह नहीं बचता.

इसी तरह छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और बीजेपी के बीच सीटों का फासला काफी हो गया है. वहां 90 में से 84 सीटों से सूचनाएं हासिल हुई हैँ. उन पर कांग्रेस को लगभग 43 फीसदी वोट मिल रहे हैं। जबकि बीजेपी 33 फीसदी पर सिमटती दिखती है। साफ है, कांग्रेस न सिर्फ स्पष्ट बल्कि बड़े बहुमत की ओर बढ़ रही है.

मगर मध्य प्रदेश और राजस्थान में मामला लटका हुआ है. हालांकि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सीटों में आगे है, मगर वोट प्रतिशत में बीजेपी कांग्रेस के लगभग बराबर है. बीजेपी साढ़े 41 फीसदी वोट के करीब है, जबकि कांग्रेस को भी साढ़े 41 प्रतिशत वोट ही मिल रहे हैं। मध्य प्रदेश की सभी 230 सीटों के ट्रेंड मिल चुके हैं.

इसी तरह राजस्थान में बीजेपी को साढ़े 38 प्रतिशत वोट मिल रहे हैं, जबकि कांग्रेस को लगभग 39 प्रतिशत वोट मिल रहे हैं. वहां सभी 199 सीटों से सूचनाएं प्राप्त हुई हैँ.

बहरहाल, मिजोरम में कोई संदेह नहीं है. मिजो नेशनल फ्रंट की सरकार वहां बनेगी. उसे साढ़े 37 फीसदी वोट मिल रहे हैं, जबकि कांग्रेस 30 प्रतिशत पर सिमटी हुई है.