सुर्ख़ियां


अमेरिका में जनरल मोटर्स के हजारों मजदूर हड़ताल पर

world economy sends up flares from germany to japan

 

जनरल मोटर्स और ऑटो मजदूरों के संगठन (यूनाइटेड ऑटो वर्कर्स) के बीच समझौता ना हो पाने के चलते अमेरिका में हजारों मजदूर 15 सितंबर की रात में हड़ताल पर चले गए. बताया जा रहा है कि करीब 50 हजार मजदूर मिशिगन से लेकर टेक्सस के बीच दर्जनों जगहों पर इस हड़ताल में हिस्सा लेंगे.

यूनाइटेड ऑटो वर्कर्स के प्रवक्ता ब्रायन रोथेनबर्ग ने बताया कि हड़ताल के बाद भी 16 सितंबर की सुबह समझौता प्रक्रिया फिर से शुरू होगी.

14 सितंबर की रात को यूनियन सदस्यों को लिखे गए पत्र में उपाध्यक्ष टेरी डिट्स ने कहा कि मेहनताने, स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं, अस्थाई मजदूरों, नौकरी की सुरक्षा और मुनाफे के बंटवारे पर अभी भी समझौते में कोई बात नहीं बन पाई है.

वहीं 15 सितंबर की सुबह की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में डिट्स ने हड़ताल को अंतिम रास्ता बताया.

दूसरी तरफ जनरल मोटर्स ने इस कदम को निराशाजनक बताया है.

अपनी तरफ से जारी एक स्टेटमेंट में जनरल मोटर्स ने कहा कि कंपनी ने मजदूर संगठन के सामने एक अच्छा प्रस्ताव रखा, इसमें अच्छे मेहनताने और राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं देने की बात कही गई.

इससे पहले संगठन के प्रवक्ता रोथेनबर्ग ने कहा कि संगठन के लगभग 200 नेताओं ने एकमत में हड़ताल पर जाने के फैसले का समर्थन किया.

इस फैसले से हर दिन करोड़ों डॉलर्स का नुकसान हो सकता है. पिछली बार 2007 में दो दिन तक चली ऐसी ही हड़ताल से जनरल मोटर्स को 600 मिलियन डॉलर से भी अधिक का नुकसान हुआ था.

वहीं राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने दोनों पक्षों से समझौता जारी रखने की अपील की है.