शिवसेना को मुख्यमंत्री पद के लिए बीजेपी की जरूरत नहीं: उद्धव

we will uproot bjp one day it is a promise

 

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना को मुख्यमंत्री पद के लिए बीजेपी की जरूरत नहीं है.  उन्होंने कहा कि कार्यवाहक मुख्यमंत्री को मीडिया से बातचीत करते हुए देख चिंतित महसूस कर रहा हूं.

उन्होंने कहा कि अमित शाह की उपस्थिति में सत्ता में समान साझीदारी की सहमति बनी थी.
झूठा ठहराये जाने से स्तब्ध और व्यथित हूं.

उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि मीठी-मीठी बाते कर शिवसेना को समाप्त करने की कोशिश गई है.

उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘शिवसेना, बीजेपी को दुश्मन नहीं मानती, लेकिन भाजपा को झूठे दावे नहीं करने चाहिए.’

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस को लगता है कि उनके नेतृत्व में महाराष्ट्र में बीजेपी की फिर से सरकार बना सकती है तो फड़णवीस को वह ‘शुभकामनाएं’ देते हैं.

मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया. राज्य में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के एक पखवाड़े बाद भी सरकार गठन को लेकर गतिरोध नहीं टूटा है.

फड़णवीस ने सत्ता की भागीदारी के समझौते पर सहमति नहीं बनने के लिए सीधे तौर पर शिवसेना को जिम्मेदार ठहराया है.

मुख्यमंत्री के इस्तीफे के बाद, मीडिया कर्मियों से बात करते हुए राउत ने कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे जल्द ही पार्टी की स्थिति स्पष्ट करेंगे.

राउत ने कहा, ” अगर मुख्यमंत्री को लगता है कि उनके नेतृत्व में फिर से बीजेपी की सरकार बन सकती है तो, मेरी उन्हें शुभकामनाएं. लोकतंत्र में जिनके पास बहुमत होता है वे सरकार बनाते हैं और मुख्यमंत्री का पद पाते हैं.”

शिवसेना नेता ने पत्रकारों से कहा, ”मैं अपनी पार्टी की ओर से यह भी कहता हूं कि अगर हम चाहें तो सरकार बना सकते हैं और मुख्यमंत्री भी शिवसेना का हो सकता है.”

उन्होंने फड़णवीस के इन आरोपों को भी खारिज किया कि शिवसेना नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की अनुचित आलोचना की है.

राज्य में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित किए गए थे और एक पखवाड़े बाद भी सरकार गठन पर दोनों पार्टियों के बीच सहमति बनती नहीं दिख रही है.

बीजेपी और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद है.


© COPYRIGHT News Platform 2020. ALL RIGHTS RESERVED.