सुर्ख़ियां


पुलिसवालों को गुलाब देकर किया विरोध-प्रदर्शन

protests by giving roses to policemen gallery

 

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने जंतर मंतर पर सुरक्षा बलों को गुलाब के फूल दिए और कहा कि पुलिस जितना चाहें उन्हें लाठी मार सकती है, लेकिन उनका संदेश ‘घृणा के बदले में प्यार’ है.

लाला किला और मंडी हाउस पर प्रदर्शन करने की इजाजत नहीं मिलने पर बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जंतर मंतर पर जमा हुए, जिसमें छात्र और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल थे.

एक प्रदर्शनकारी संदीप धीमान ने कहा, ‘वे हम पर चाहें जितना लाठी चला सकते हैं, हम तब भी उन्हें गुलाब ही देंगे. घृणा के बदले में प्यार. हम उनके वाटर कैनन और आंसू गैस का सामना करने को तैयार हैं.’

इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सरकार की जमकर आलोचना की. उन्होंने नारे लगाए, ‘डिजिटल इंडिया, लेकिन इंटरनेट नहीं’, ‘जनता मांगे रोजी रोटी, मिलती हमको लाठी गाली’ और ‘सेव कॉन्सिट्यूशन, सेव कंट्री’.

जंतर मंतर पर वालंटियर्स के लिए सहायता केंद्र बनाया गया है, नए पोस्टर बनाने के लिए लोगों को स्टेशनरी दी जा रही है. यह घोषणा भी की जा रही है कि सहायता केंद्र पर खाने के पैकेट उपलब्ध हैं.

इस दौरान मुस्लिम प्रदर्शनकारियों को नमाज पढ़ने के लिए मानव श्रृंखला बनाकर जगह दी गई.