“गो बैक मोदी” के नारों के बीच प्रधानमंत्री का कोलकाता दौरा जारी

Team NewsPlatform | January 12, 2020

pm continue his visit as protesters raised slogans of go back modi

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय कोलकाता दौरे के बीच राजधानी में सीएए और एनआरसी के खिलाफ लगातार छात्रों का प्रदर्शन जारी है.

शनिवार को कोलकाता के लोगों ने काले झंडे और एनआरसी और सीएए विरोधी नारों के साथ प्रधानमंत्री का स्वागत किया.

‘गो बैक मोदी’ और ‘बीजेपी डाउन’ के पोस्टर और नारों के साथ लगातार ये प्रदर्शन जारी है. कल प्रधानमंत्री के आने से पहले ही यहां कार्यकर्ताओं, छात्रों समेत तमाम नागरिकों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया था और वो पूरी रात राजधानी में एस्प्लेनेड में ही बैठे रहे. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा कि वो तब तक अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे जब तक प्रधानमंत्री वापस नहीं लौटे जाते.

इसके अलावा आज सुबह से ही राजधानी में अलग-अलग जगहों पर लोगों ने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ ‘विभाजनकारी कानून’ लाने के लिए नारे लगाए.

कल यहां पहुंचे प्रधानमंत्री से ममता बनर्जी ने शिष्टाचार भेंट की. ममता ने कहा कि उन्होंने मुलाकात में एनआरसी और सीएए का मुद्दा उठाया.

मुलाकात के बाद ममता ने सीएए के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन में भी हिस्सा लिया. यहां छात्र ममता के प्रधानमंत्री से मुलाकात करने पर खासे नाराज दिखे, जिसके बाद ममता ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि ये केवल एक शिष्टाचार भेंट थी और वो केवल प्रोटोकॉल का पालन कर रही थीं.

रविवार सुबह हावड़ा स्थित बेलूर मठ में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ‘युवाओं में नए नागरिकता कानून को लेकर कई सवाल हैं और उनमें से बहुत से छात्रों को इस कानून पर गलत जानकारियां दी जा रही हैं… ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम उन तमाम दुविधाओं को खत्म करें.’

मोदी ने कहा, ‘मैं ये साफ कर देना चाहता हूं कि सीएए किसी भी व्यक्ति की नागरिकता नहीं लेगा, बल्कि ये कानून नागरिकता देता है.’

प्रधानमंत्री ने कहा कि नया नागरिकता कानून किसी भी नागरिक के लिए खतरा नहीं है.


Big News

Opinion

No, Salman Khan Does Not Drink Children’s Tears: How Speculative Reporting Allowed QAnon Theories To Spread in India
No, Salman Khan Does Not Drink Children’s Tears: How Speculative Reporting Allowed QAnon Theories To Spread in India
On September 14, a lawyer named Vibhor Anand published some big “revelations” on his Twitter account. His account is now…
hathras girl
क्या दलित इंसान नहीं हैं? क्या उनकी अंतिम इच्छा नहीं हो सकती है?
रेयाज़ अहमद: क्या आप हमें बता सकते हैं कि 14 अक्टूबर के लिए क्या योजना बनाई गई है - कितने…
भीम कन्या
भीम कन्या
यह एक भव्य कार्यक्रम है। पुरे भारत में क़रीब एक हज़ार गाँव में 14 अक्टूबर को प्रेरणा सभा का आयोजन…

Humans of Democracy