सुर्ख़ियां


स्पेन में स्वतंत्रता समर्थक राजनेताओं की रिहाई के लिए मार्च फॉर फ्रीडम जारी

March for Freedom Strike Continues Across Catalan Region

 

कैटेलोनिया के 12 पूर्व राजनेताओं को कैद की सजा, स्पेन की सरकार की कठोर नीतियों और दमन के खिलाफ 18 अक्टूबर की देर रात तक कैटेलोनिया क्षेत्र में प्रदर्शनकारियों का ‘मार्च फॉर फ्रीडम’ जारी रहा. दिन में शुरू हुआ शांतिपूर्ण प्रदर्शन रात को हिंसक हो गया.

स्पेन की सर्वोच्च अदालत ने सात अक्टूबर को कैटेलोनिया की स्वतंत्रता के समर्थक 12 राजनेताओं को देशद्रोह के आरोप में नौ से 13 साल की जेल की सजा सुनाई है. जिसके बाद क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन हो रहा है.

पिछले एक सप्ताह से चल रहे प्रदर्शन की वजह से बार्सिलोना सहित बाकी कैटेलोनिया में बंद जैसी स्थिति बनी हुई है. 16 अक्टूबर को पुलिस की कार्रवाई में 130 से अधिक प्रदर्शनकारियों के घायल होने की खबर है. इनमें एक महिला भी शामिल हैं जिन्होंने पुलिस की ओर से छोड़ी गई रबर बुलेट की वजह से अपनी एक आंख खो दी.  16 अक्टूबर को 33 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया.

स्पेन के पांच अलग-अलग शहरों में हजारों प्रदर्शनकारियों ने हिस्सा लिया. आयोजकों ने अकेले बार्सिलोना में 750,000 लोगों के शामिल होने का दावा किया. स्वतंत्रता समर्थकों ने मुख्य सड़क सहित यातायात को बाधित कर दिया. प्रदर्शनकारी राजनेताओं की रिहाई के साथ-साथ क्षेत्र के लिए सामाजिक सुरक्षा और श्रम कार्यक्रम चाहते हैं. इनमें सबके लिए स्वास्थ्य सेवाएं और कार्यस्थल पर जेंडर समानता की मांग शामिल है.

वुएलिन एयरलाइन ने अबतक 36 उड़ानें रद्द की हैं. वहीं, कैटोलेनिया की छोटी दुकानें समर्थन में बंद हैं. पूर्व राजनेताओं और कार्यकर्ताओं को 2017 में देश से अलग होने का अवैध प्रयास करने के मामले में उनकी भूमिकाओं के लिए दोषी ठहराया गया है.

अदालत ने कैटेलोनिया के पूर्व क्षेत्रीय उपाध्यक्ष ओरियल जंक्वेराज को देशद्रोह तथा सरकारी धन के दुरुपयोग के मामले में 13 साल कैद की सजा सुनाई. इस मुकदमे को 1975 में लोकतंत्र बहाल होने के बाद से स्पेन का सबसे महत्वपूर्ण मुकदमा माना जा रहा है. तानाशाह जनरल फ्रांसिस्को फ्रांसो की मौत के बाद लोकतंत्र बहाल किया गया था.

कैटेलोनिया में स्वतंत्र जनमत संग्रह कराने के बाद स्पेन से अलग होने की कोशिश के लिए आठ लोगों को लंबी कैद की सजा मिली है. वहीं तीन अन्य को कम सजा मिली है.

विश्वविद्यालय, कॉलेज और स्कूल के 25,000 छात्रों ने लगातार दूसरे दिन बार्सिलोना में प्लैका यूनिवर्सिटी से प्लैका सांत जाउमे तक मार्च किया. वे स्वतंत्रता के नारे लगा रहे थे.

गिरोना में 4,000 से अधिक छात्रों ने स्पेन सरकार के प्रतिनिधियों के सामने प्रदर्शन किया. देश में बिजली की खपत में 10 फीसदी तक की खपत में कमी आई है. कैटेलोनिया के सबसे बड़े कार्यस्थल एसईएटी कार फैक्ट्री ने अपने 8,000 कर्मचारियों को घर पर रहने को कहा है.