सुर्ख़ियां


राफेल सौदे पर मनमोहन सिंह – दाल में कुछ काला है

on rafale deal statement of manmohan singh

 

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राफेल डील को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. मामले में ज्वाइंट पार्लियामेंट्री कमिटी का गठन नहीं करने पर उन्होंने सवाल उठाया कि दाल में कुछ काला है.

राफेल डील पर पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, “देश की जनता राफेल डील को लेकर संदेह कर रही है. विपक्ष समेत अलग-अलग तबके इस मुद्दे पर ज्वाईंट पार्लियामेंट्री कमिटी बनाने की मांग कर रही है लेकिन सरकार इसके लिए तैयार नहीं हो रही है. इससे पता चलता है कि दाल में कुछ काला है.”

उन्होंने मोदी सरकार पर संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा मोदी के शासनकाल में पूरी तैयारी के साथ संसद और सीबीआई की विश्वसनीयता को कम किया है.

इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेस में मनमोहन सिंह ने कहा, “मोदी सरकार में जानबूझकर लोकतंत्र को कमजोर करने के प्रयास किए गए हैं.”

सरकार की नीतिओं में जीएसटी और नोटबंदी की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, “नोटबंदी एक ऐतिहासिक विफलता है जिसे मोदी सरकार कभी स्वीकार नहीं करेगी. मोदी सरकार की ओर से बताये जा रहे किसी भी उदेश्य को नोटबंदी से नहीं पाया जा सका है और न ही इससे काले धन की उगाही हुई है.”

उन्होंने कहा कि जनता को निराशाजनक हालात में लाने वाली सरकार को हटाने के लिए कदम उठाना चाहिए. उन्होंने कहा, “कांग्रेस की अगली सरकार जीएसटी को आसान बनाएगी लेकिन नोटबंदी पर कुछ नहीं किया जा सकता है.”

व्यापम, प्याज खरीद घोटाला, कृषि पंप सब्सिडी घोटाला का नाम लेते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शासन काल में हुए हैं.

उन्होंने कहा कि जनता सरकार की नीतियों से परेशान हो गई है. सरकार रोजगार के वादे पर खरा नहीं उतर पाई है. प्रधानमंत्री ने कृषि संकट और किसानों की खुदकुशी का मुद्दा भी उठाया.