सुर्ख़ियां


बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों का बहिष्कार नहीं करेगा आईओए

IOA will not boycott Birmingham Commonwealth Games

 

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने निशानेबाजी को हटाए जाने को लेकर 2022 बर्मिंघम खेलों के बहिष्कार की धमकी वापस ले ली है और साथ ही घोषणा की है कि देश 2026 या 2030 खेलों की मेजबानी की दावेदारी पेश करेगा.

राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) की सलाह पर आईओए ने अपनी वार्षिक आम बैठक के दौरान राष्ट्रमंडल खेल 2022 से पहले राष्ट्रमंडल निशानेबाजी चैंपियनशिप की मेजबानी का औपचारिक प्रस्ताव सौंपने का फैसला किया. 2022 खेलों से निशानेबाजी को हटाए जाने की भरपाई के लिए भारतीय राष्ट्रीय निशानेबाजी संघ और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी संघ ने यह विचार रखा था.

आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने एजीएम के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘एजीएम में हमने बर्मिंघम में 2022 राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी से हटने का फैसला वापस ले लिया है. देश का दल 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के लिए जाएगा.’

राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) की अध्यक्ष डेम लुईस मार्टिन ने भारत के बर्मिंघम खेलों में प्रतिनिधित्व की पुष्टि करने का स्वागत किया है.

लुईस मार्टिन ने प्रेस रिलीज में कहा, ‘सीजीएफ और पूरा राष्ट्रमंडल खेल अभियान प्रफुल्लित है कि भारत (आईओए) ने नई दिल्ली में अपनी वार्षिक आम बैठक के दौरान बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022 में हिस्सा लेने के अपने इरादे की पुष्टि की है.’

आईओए प्रमुख नरिंदर बत्रा की मौजूदगी में मेहता ने कहा, ‘हम साथ ही 2026 या 2030 राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी के लिए दावेदारी पेश करेंगे. इस बोली को लेकर आम सभा में प्रस्ताव पारित किया गया है.’

ओलंपिक खेलों की देश में शीर्ष संस्था आईओए अब राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी की जरूरी स्वीकृति लेने के लिए सरकार से संपर्क करेगा. भारत ने 2010 में इन खेलों की मेजबानी की थी.

मेहता ने कहा, ‘एजीएम में स्वीकृति मिलने के बाद हम सरकार के पास जाएंगे. अंत में फैसला सरकार को ही करना है.’

रवांडा के किगाली में सीजीएफ की 2019 आम सभा में 2026 खेलों के मेजबान पर फैसला होना था लेकिन इसे स्थगित कर दिया गया और अब घोषणा अगले साल की जाएगी.

बत्रा ने बताया कि एजीएम ने यह प्रस्ताव भी पारित किया है कि सीजीएफ से आग्रह किया जाएगा कि निशानेबाजी की तर्ज पर तीरंदाजी की राष्ट्रीय चैंपियनशिप का भी आयोजन किया जाए. तीरंदाजी भी 2022 राष्ट्रमंडल खेलों का हिस्सा नहीं है.