भारत ने मनाया अपना 71वां गणतंत्र दिवस

Team NewsPlatform | January 26, 2020

India celebrated its 71st Republic Day

 

राजपथ पर देश के भव्य इतिहास, विशाल संस्कृति, हथियारों के प्रदर्शन के बीच रविवार को 71वें गणतंत्र दिवस का जश्न मनाया गया.

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो भारत के 71वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि थे, जिन्होंने राजपथ पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य नेताओं के साथ भव्य परेड का आनंद उठाया.

इससे पहले 1996 और 2004 में ब्राजील के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बन चुके हैं.

इस वर्ष समारोह में कई चीजें पहली बार हुईं. इसमें प्रधानमंत्री का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करना भी शामिल है.

मोदी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति के बजाय पहली बार यहां नवनिर्मित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी.

इंडिया गेट परिसर स्थित इस स्मारक का पिछले साल 25 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था.

भारतीय वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलीकॉप्टर भी आकर्षण का केन्द्र बने. डीआरडीओ की उपग्रह भेदी (ए-सैट) हथियार प्रणाली को भी यहां प्रदर्शित किया गया. समारोह में विभिन्न राज्यों और मंत्रालयों की 22 झांकियों के जरिए देशवासियों को अलग-अलग संदेश दिए गए.

गोवा ने जहां ‘मेढक बचाओ’ का संदेश दिया वहीं जम्मू-कश्मीर ने ‘गांव की ओर लौटो’ कार्यक्रम से लोगों को अवगत कराया. वहीं पंजाब की झांकी गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के नाम रही.

इन 22 झांकियों में 16 झांकियां विभिन्न राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की थी और अन्य छह मंत्रालयों, विभागों और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की थी.

जल शक्ति मंत्रालय ने भी एक झांकी निकाली, जिसमें ‘जल जीवन मिशन’ पहल को प्रदर्शित किया गया. इस मिशन का लक्ष्य 2024 तक हर गांव में हर घर तक पाइप लाइन के जरिए पानी पहुंचाना है.

‘धनुष’ तोप का भी प्रदर्शन किया, यह प्रदर्शन कैप्टन मृगांक भारद्वाज की कमान में किया गया. 155एमएम/45 कैलीबर धनुष तोप को होवित्जर तोप की तरह डिजाइन किया गया है. यह आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा स्वदेश निर्मित है. अधिकतम 36.5 किलोमीटर दूरी की मारक क्षमता वाली इस तोप में स्वचालित बंदूक अलाइनमेंट और पोजिशनिंग की क्षमता है.

भारतीय वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलीकॉप्टर गणतंत्र दिवस की भव्य सैन्य परेड में आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे.

चिनूक दूरदराज के स्थानों तक व्यापक स्तर पर सामग्री को पहुंचा सकता है. यह ट्वीन रोटर वाला हेलीकॉप्टर है जिससे भारतीय वायु सेना की सैन्य और आपदा संबंधी भार क्षमता बढ़ी है. वहीं अपाचे हवा से हवा और हवा से जमीन पर मार करने वाली मारक क्षमता वाला हेलीकॉप्टर है जो दुश्मनों पर कहर ढा सकता है.

गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर समेत मोदी सरकार के ज्यादातर मंत्री इस मौके पर मौजूद रहे. इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी राजपथ पर उपस्थित थे.


Big News