सुर्ख़ियां


‘गोली मारो’ और ‘भारत-पाकिस्तान मैच’ जैसे बयानों से संभवत: पार्टी की हार हुई: अमित शाह

hate speech might have caused damage to party in Delhi polls says Amit Shah

 

केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पार्टी नेताओं द्वारा दिए गए भड़काऊ और घृणा से भरे बयानों से हो सकता है कि पार्टी को दिल्ली चुनाव में नुकसान हुआ हो.

यह बात उन्होंने अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ के एक सम्मेलन में कही.

उन्होंने कहा कि हम दिल्ली चुनाव में अपनी पार्टी की हार स्वीकारते हैं और चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी नेताओं को ‘गोली मारो’ और ‘भारत-पाकिस्तान मैच’ जैसे नफरत भरे भाषण नहीं देने चाहिए थे, संभव है कि इस तरह की टिप्पणियों से पार्टी की हार हुई.

उन्होंने कहा, ‘गोली मारो और भारत-पाकिस्तान जैसे बयान नहीं दिए जाने चाहिए थे. हमारी पार्टी ने इस तरह के बयानों से खुद को अलग कर लिया है.’

दिल्ली चुनाव प्रचार के दौरान गृह मंत्री अमित शाह समेत कई बीजेपी नेताओं, सांसदों और मंत्रियों ने विवादित बयान दिए थे और इन बयानों पर पार्टी की तरफ से नेताओं के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

गृह मंत्री अमित शाह ने चुनाव प्रचार के दौरान कई रैलियों में ईवीएम का बटन दबाकर शाहीन बाग में करंट लगाने की बात कही थी. वहीं बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पाकिस्तानी बताकर मतदान के दिन भारत-पाकिस्तान मैच होने की बात कही थी.

वहीं पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से बीजेपी के सांसद परवेश वर्मा ने कहा था कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी लोगों के घरों में घुसकर उनकी बहन-बेटियों से बलात्कार करेंगे. उन्होंने यह भी कहा था कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनते ही सरकारी जमीन पर बनीं मस्जिदों को तोड़ दिया जाएगा.

परवेश वर्मा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आतंकवादी बताया था. उन्होंने कहा था कि एक तरफ हमें पाकिस्तान के आतंकवादियों से लड़ना पड़ता है और दूसरी तरफ देश के अंदर अरविंद केजरीवाल जैसे आतंकवादियों से लड़ना पड़ता है.

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक रैली में गद्दारों को गोली मारो के नारे लगवाए थे. वहीं केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आतंकवादी बोला था.