बुलंदशहर : इंस्पेक्टर से नाराज थे बीजेपी नेता?

Team NewsPlatform | December 7, 2018

bjp local leaders are angry with subodh kuamr singh

 

उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के स्याना में हिंसा के दौरान मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की कार्यप्रणाली से स्थानीय बीजेपी नेता क्या नाराज थे. यह सवाल यहां इसलिए उठ रहा है क्योंकि सोशल मीडिया पर एक पत्र वायरल हो रहा है जो स्थानीय बीजेपी नेताओं का बताया जा रहा है.

बुलंदशहर से सांसद डॉक्टर भोला सिंह को हिंसा से दो दिन पहले भेजे गए इस पत्र में कहा गया था कि इंस्पेक्टर का व्यवहार जनता के प्रति अभद्र है और क्षेत्र में चोरी, पशु चोरी, अवैध कटान जैसी घटनाएं बढ़ गई हैं.

सांसद के अनुसार उन्होंने पत्र वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भेजकर कार्रवाई की मांग की थी.

बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केबी सिंह ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में माना है कि उन्हें इस तरह का पत्र प्राप्त हुआ था. उनसे जब पूछा गया कि इस पर क्या कार्रवाई की गई, तो उन्होंने कहा कि जांच के आदेश दे दिए गए थे.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के अनुसार बुलंदशहर हिंसा के मामले में अभी तक चार आरोपियों को ही गिरफ्तार किया जा सका है.

सोशल मीडिया पर वायरल पत्र को एक दिसंबर को स्याना के बीजेपी नेताओं ने सांसद डॉक्टर भोला सिंह को भेजा था. पत्र पर भाजपा के नगर महामंत्री स्याना संजय श्रोत्रिय, नगर उपाध्यक्ष कपिल त्यागी, पूर्व सभासद मनोज त्यागी, मंडल अध्यक्ष बीबीनगर नीरज चौधरी, भाजपा विधानसभा संयोजक स्याना विजय कुमार लोधी और ब्लॉक प्रमुख पुष्पेंद्र यादव के हस्ताक्षर हैं.

इस पत्र में लिखा हुआ है कि हिंदुओं के धार्मिक कार्यों के आयोजन में अड़चन पैदा की जा रही है, जिससे हिंदू समाज में आक्रोश पनप रहा है. ऐसे पुलिस अधिकारियों का तत्काल तबादला कराकर इनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही कराने की कृपा करें.

अब ऐसे में सवाल उठता है कि क्या इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को बीजेपी के स्थानीय नेताओं की नाराजगी की क़ीमत चुकानी पड़ी है?

गौरतलब है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह 28 सितंबर 2015 को मॉब लिंचिंग के शिकार हुए मोहम्मद अखलाक़ की हत्या की जांच कर रहे थे. इस सिलसिले में उन्होंने कई आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था. लेकिन जांच के बीच में ही उनका तबादला वाराणसी कर दिया गया था.

(भाषा से इनपुट के साथ)


Big News

Opinion

Humans of Democracy