सुर्ख़ियां


…वो शख्सियत जिसने अपने बल्ले से रिकॉर्ड की इबारतें लिखीं

sunil gavaskar birthday special

 

भारत के पूर्व क्रिकेटर सुनील गावसकर अपना 70वां जन्मदिन मना रहे हैं. उनका जन्म 10 जुलाई 1949 को हुआ था. वे एक दिग्गज बल्लेबाज माने जाते रहे हैं. सुनील का पूरा नाम सुनील मनोहर गावसकर है. सुनील गावसकर जिस दौर में खेलते थे वो तेज गेंदबाजों का दौर माना जाता है. उस दौर में दुनियाभर में तेज गेंदबाजों का दबदबा था, खासकर वेस्ट इंडीज के गेंदबाजों से बल्लेबाज खौफ खाते थे. लेकिन गावसकर ने न सिर्फ इनका डटकर सामना किया बल्कि तमाम रिकार्ड भी अपने नाम किए.

सुनील अपने कॉलेज के दिनों से क्रिकेट खेलते थे. तब से ही उनके क्रिकेट खेलने के तरीके की जमकर सराहना होती थी. सबसे पहले 1971 में उन्हें टेस्ट टीम के वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुना गया था. वे ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जो विश्व क्रिकेट में पहले बल्लेबाज बने, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाए. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ अपने 124वें टेस्ट मैच में यह उपलब्धि हासिल की थी.

उन्होनें उस दौर में सबसे ज्यादा टेस्ट रन और टेस्ट सेंचुरी बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था. गावसकर के सन्यास लेने के काफी सालों तक कोई उनका रिकॉर्ड नहीं तोड़ सका. सुनील गावसकर ने 1971 से 1987 तक खेला जिसमें उन्होनें 125 टेस्ट और 108 वनडे मैच खेले और साथ ही 34 शतकों के साथ 10,122 रन बनाए.

साल 1980 में सुनील गावसकर को पद्म भूषण अवार्ड से नवाजा गया. उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है. इतना ही नहीं बॉर्डर-गावसकर टूर्नामेंट को सुनील गावसकर और एलन बार्डर के नाम पर शुरू किया गया है. सुनील गावसकर को 1975 में ‘अर्जुन पुरस्कार’ से भी सम्मानित किया गया.

साल 2012 में उन्हें बीसीसीआई की तरफ से कर्नल सी.के.नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाज़ा गया था. सुनील एक बल्लेबाज ही नहीं बल्कि एक महान लेखक भी हैं. उन्होनें नी डेज, आइडल्स, रंस एण्ड रूइंस तथा वन डे वंडर्स किताबें लिखी हैं . वे एक मराठी फिल्म और हिन्दी फिल्म में अभिनय भी कर चुके हैं.